Header Name
मुख पृष्ठ>>भारत सरकार की पहल >>आईपीडिएस/आर-एपीडीआरपी

आईपीडिएस/आर-एपीडीआरपी

विद्युत मंत्रालय भारत सरकार ने जुलाई २००८ में त्वरित विद्युत विकास व सुधार कार्यक्रम (एपीडीआरपी) की द्राुरूआत की जिसमें XIवीं योजना के दौरान उप पारेद्गाण व वितरण नेटवर्क को सुदृढ़ करने और उन्नयन करके और सूचना प्रौद्योगिकी अपनाने के जरिए आधारभूत आंकड़ों की स्थापना, जवाबदेही के निर्धारण, ए टी एडं सी हानियों को १५ प्रतिच्चत तक कम करने पर जोर दिया गया। परियोजना क्षेत्र जनगणना २००१ के अनुसार ३०,००० से अधिक आबादी वाले द्राहर (विच्चेद्गा श्रेणी राज्यों के लिए १०,०००) होगा। परियोजना के अंतर्गत योजनाएं दो भागों में होंगी। भाग-क में आधारभूत आंकड़ो की स्थापना, और ऊर्जा लेखाकरण/लेखा परीक्षा हेतु सूचना प्रौद्योगिकी का अनुप्रयोग और सूचना प्रौद्योगिकी आधारित उपभोक्ता सेवा केन्द्र की स्थापना हेतु परियोजनाएं द्राामिल है। भाग-ख में नियमित वितरण सुदृढ़ीकरण परियोजना द्राामिल है और प्रणाली सुधार, सुदृढीकरण और संवर्धन आदि द्राामिल होंगे।

आरएपीडीआरपी के अंतर्गत कार्यक्रम के प्रचालनीकरण के लिए पीएफसी को नोडल एजेंसी बनाया गया है और यह एकल खिड़की सेवा के रूप में कार्य करेगा। नोडल एजेंसी के रूप में आरएपीडीआरपी संचालन समित द्वारा निर्धारित मानकों के अनुसार कार्यक्रम के कार्यान्वयन में फीस व व्यय की प्रतिपूर्ति लेगा।
 

अधिक जानकारी के लिए जाएं:- www.apdrp.gov.in

ये वेबसाइट पावर फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (भारत सरकार का उपक्रम) से संबंधित है ।
अंतिम नवीनीकरण दिनांक : 27/04/2017